मुज़फ्फरनगर- खतौली में पेट्रोल भरवाने को लेकर दो पक्षों में विवाद

मुज़फ्फरनगर- खतौली में पेट्रोल भरवाने को लेकर दो पक्षों में विवाद

खतौली। भैंसी पैट्रोल पम्प पर कार में सीएनजी डलवाने के दौरान हुई मामूली बात को लेकर दो कार सवारों में गाडी टच होने पर कहासुनी के बाद चार पक्षों के बीच जमकर मारपीट होने से डेढ़ दर्जन लोग घायल हो गये, जिसमें से चार की हालत गंभीर बनी हुई है। मामला अलग-अलग समुदाय से जुड़ा होने के चलते पुलिस में हड़कंप मच गया। हरकत में आयी कोतवाली पुलिस ने आनन-फानन मौके पर पहुंचकर मामला संभाला।

 जानकारी के अनुसार फिरोज़ राणा पुत्र अक़ील राणा निवासी मौहल्ला खालापार थाना शहर कोतवाली, मुजफ्फरनगर आज सुबह गांव भैंसी स्थित सीएनजी पम्प पर अपनी गाड़ी में सीएनजी भरवाने के लिये लाइन में लगा था। इस दौरान अपने बहनोई बुढ़ाना रोड़ निवासी मुस्तकीम मलिक के यहां रिश्तेदारी में आया हारून पुत्र लियाक़त निवासी बालैनी जनपद बागपत भी अपनी गाड़ी में सीएनजी डलवाने पम्प पर पहुंच गया।  सीएनजी भरवाने हेतु लाइन में लगी दोनों गाडिय़ों के आपस में मामूली रूप से टच होने को लेकर हारून और फिरोज़ के बीच मुंहभाषा के बाद मारपीट हो गयी। बताया गया कि हारून द्वारा झगड़े की सूचना अपने बहनोई को देने पर बाइकों पर सवार बड़ी संख्या में युवाओं की टोली सीएनजी पम्प पहुंच गयी। हारून के पक्ष में आये युवाओं द्वारा फिरोज़ को लात घूंसों से मारे जाने के दौरान फिरोज़ की हिमायत लेने पर उपद्रवी युवाओं ने सीएनजी पम्प के कर्मचारियों के साथ भी मारपीट शुरू कर दी। इसके बाद पम्प कर्मचारियों ने एकत्रित होकर युवाओं को दौड़ा लिया।

बताया गया कि एक कार व बाइकों पर सवार होकर गांव भैंसी के अंदर से होकर भागने के दौरान कार की टक्कर एक ग्रामीण को लग गयी। इससे आक्रोशित ग्रामीणों ने युवाओं को घेरकर इनकी जमकर धुनाई करने के अलावा कार क्षतिग्रस्त कर दी। समुदाय विशेष के युवकों को भैंसी में बंधक बनाकर पीटे जाने की सूचना मिलते ही कोतवाल धर्मेन्द्र कुमार दलबल के साथ भैंसी पहुंच गये। हंगामे के दौरान पुलिस ने समुदाय विशेष के युवकों को ग्रामीणों से बचाकर थाने पहुंचाया। बाद में फिरोज़ व हारून पक्ष के अलावा सीएनजी पम्प के कर्मचारियों और भैंसी के कुछ ग्रामीणों ने सरकारी अस्पताल पहुंचकर अपनी डॉक्टरी करायी। चारों पक्षों ने एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाकर थाने में तहरीर देकर कार्यवाही की मांग पुलिस से की है। हारून पक्ष के आधा दर्जन युवकों को हिरासत में लेकर पुलिस मामले की जांच पड़ताल करने में जुट गयी है। मामूली झगड़े को लेकर भैंसी में साम्प्रदायिक बवाल होने की कोरी अफवाह फैलने से देर तक हड़कम्प मचा रहा।