कृषि कानूनों की तरह CAA को भी वापस ले सरकार: मौलाना मदनी

कृषि कानून को वापस लिए जाने के एलान के बाद एक बार फिर से नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को वापस लेने की मांग ज़ोर पकड़ने लगी है.

कृषि कानूनों की तरह CAA को भी वापस ले सरकार: मौलाना मदनी
Government-should-withdraw-CAA-like-agricultural-laws:-Maulana-Madani

कृषि कानूनों की तरह CAA को भी वापस ले सरकार: मौलाना मदनी

कृषि कानून को वापस लिए जाने के एलान के बाद एक बार फिर से नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को वापस लेने की मांग ज़ोर पकड़ने लगी है.

 

जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने सरकार से नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को वापस लेने की मांग की है.

मौलाना मदनी ने ट्वीट कर कहा कि हम कृषि कानूनों की वापसी का स्वागत करते हैं. इसके साथ ही हम चाहते हैं कि कृषि कानूनों की तरह सरकार अब CAA को भी वापस ले. मौलाना मदनी ने कहा कि किसानों को इस तरह के शक्तिशाली आंदोलन चलाने का रास्ता सीएए के खिलाफ चलाए गये आंदोलन से मिला. उन्होंने कहा कि कृषि कानून वापस लेने के फैसले ने साबित कर दिया है कि लोकतंत्र और जनता की ताक़त सर्वप्रिय है और लोकतंत्र में सभी को अपनी बात रखने का अधिकार है.

मौलाना अरशद मदनी ने एक और ट्वीट करके कहा कि किसान आंदोलन की सफलता से यह सबक मिलता है कि है कि किसी भी जन आंदोलन को बल से कुचला नहीं जा सकता। जो लोग सोचते हैं कि सरकार और संसद अधिक शक्तिशाली हैं, वे गलत हैं। लोकतंत्र में वास्तविक शक्ति लोगों की होती है।