ये इस्लाम में जुर्म है, अल्लाह से डरो... हैदराबाद ऑनर किलिंग पर 48 घंटे बाद बोले असदुद्दीन ओवैसी

हैदराबाद में कथित हॉनर किलिंग पर घमासान छिड़ा है। इस बीच हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने इस मामले पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा है कि किसी मुस्लिम लड़की को ये हक है कि वह अपनी पसंद से शादी करे।

ये इस्लाम में जुर्म है, अल्लाह से डरो... हैदराबाद ऑनर किलिंग पर 48 घंटे बाद बोले असदुद्दीन ओवैसी

हैदराबाद में नागराजू हत्याकांड पर हंगामा मचा है। सोशल मीडिया पर भी इस घटना को लेकर बहस छिड़ी हुई है। इस बीच ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने इस मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ी है। हैदराबाद सांसद ओवैसी ने इस घटना को इस्लाम के खिलाफ बताया है। साथ ही ओवैसी ने कहा कि मुस्लिम लड़की ने अपने पसंद से शादी की थी और कानूनन उसे इसकी इजाजत है। बताते चलें कि हैदराबाद में एक मुस्लिम लड़की ने अपने परिवार के खिलाफ जाकर हिंदू युवक से शादी की थी। 4 मई को युवक की चाकू घोंपकर हत्या कर दी गई।

अपनी पसंद से शादी की कानूनन उसको इजाजत है

हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, 'हिंदू मैरिज ऐक्ट में आपको हिंदू होना जरूरी है, तभी आपकी शादी लीगल होती है। मुसलमानों में दो मुस्लिम मर्द और औरत में ही निकाह हो सकता है। ये शरीयत कानून है। हिंदू मैरिज ऐक्ट में दो हिंदुओं के दरम्यान शादी होती है। स्पेशल मैरिज ऐक्ट का भी प्रावधान उसमें है। यहां पर (हैदराबाद में) इस लड़की ने अपने पसंद से शादी की, कानूनन उसको इजाजत है। उनके भाई को इसका कोई हक नहीं है कि वो जाकर उस लड़की के शौहर का कत्ल करे। कानूनन जुर्म है। इस्लाम में बदतरीन जुर्म कत्ल है।'

जुर्म है ये याद रखो, डरो अल्लाह से

ओवैसी ने आगे कहा, याद रखो आप, जो मासूम लोगों का कत्ल करता है वो उसी हालत में अल्लाह के दरबार में खड़ा होगा कि या अल्लाह ये शख्स मुझे मारा था अब तू इसका हिसाब कर। आपने क्यों मारा उस बच्चे को। मैं खुलेआम आलोचना करता हूं। मैं खुला बोल रहा हूं। आपको पसंद नहीं था ठीक है आपको मुंह फेर लेना था ठीक है पसंद नहीं है जाओ तुम। मगर आपने जुर्म किया है। गलत हरकत की और मजलिस (ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन) इसकी आलोचना करती है। शादी-निकाह दो मुसलमानों के दरम्यान में होता है। उसी को निकाह बोलते हैं। मगर आपको इख्तियार नहीं है कि आप जाकर उस बच्ची के शौहर (पति) को कत्ल कर दें। जुर्म है ये याद रखो, डरो अल्लाह से।

नागराजू ने मुस्लिम लड़की से की शादी, 4 मई को हत्या

25 साल के नागराजू हैदराबाद के बिल्लापुरम में रहते थे। उन्‍होंने 23 साल की सैयद सुल्ताना (Syed Sultanan) से दो महीने पहले ही शादी की थी। 4 मई को चाकू गोदकर नागराजू की हत्‍या कर दी गई। मामला ऑनर किलिंगका बताया जा रहा है। आरोप है क‍ि लड़की के घरवालों ने युवक की हत्‍या करवाई है। पुलिस ने इस मामले में कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया था और ये सभी लड़की के परिवार के हैं। मौके पर मौजूद कई लोगों ने इस वारदात के वीडियो बनाए व कुछ ने तस्वीरें लीं, जो सोशल मीडिया में वायरल हो रही हैं। घटना 4 मई बुधवार रात करीब नौ बजे सरूरनगर तहसीलदार कार्यालय के पास हुई। आरोपी मोटरसाइकिल पर सवार थे और नागराजू को चाकू मारने के बाद फरार हो गए थे।

31 जनवरी को हुई थी सुल्ताना और नागराजू की शादी

नागराजू के परिवार ने हत्या में उसकी पत्नी के परिवार के शामिल होने का दावा करते हुए विरोध प्रदर्शन किया था। नागराजू की कथित तौर पर पल्लवी (पूर्व में सैयद आशरीन सुल्ताना Syed Sultanan) से 31 जनवरी को उसके परिवार की इच्छा के विरुद्ध शादी की गई थी। नागराजू के परिवार का आरोप है कि उसके परिवार ने लड़के की हत्या इसलिए की क्योंकि वह अलग धर्म के थे।

साभार: नवभारत टाइम्स